नगर निगम कर्मचारी आकाश शर्मा के खिलाफ गोमती नगर थाने में हुई FIR

0
35

दिनांक 11.05.2023

जोनल अधिकारी, जोन-4 द्वारा अवगत कराया गया कि कार्यदायी संस्था के माध्यम से जोन-4 में बिल वितरण, 296 (अतिक्रमण), चालक, हेल्पर आदि के रूप में विभिन्न कार्मिक कार्य पर पूर्व में रखे गये थे। इसी क्रम में आकाश शर्मा उर्फ शेष्ठ शर्मा, निवासी 5/477 विकास नगर, लखनऊ को भी कार्य पर रखा गया था परन्तु आकाश शर्मा द्वारा नगर निगम सीमा के अन्तर्गत भवनों के कर निर्धारण व नामान्तरण के नाम धन उगाही की शिकायत प्राप्त होने पर कार्य से पूर्व में ही हटा दिया गया था।

इसके पश्चात भी एक शिकायत में पाया गया कि श्री आकाश शर्मा द्वारा क्षेत्र में घूमकर भवनो कर निर्धारण/नामान्तरण के नाम धनराशि उगाही कर सरकार की छवि धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा है।

यह संज्ञान में आया है कि खरगापुर स्थित एक भवन के कर निर्धारण के नाम पर रु. 12000 की धनराशि भवन स्वामी से ली गयी है जिसको एक माह व्यतीत होने के पश्चात मांगे जाने पर भवन स्वामी को वापस नहीं किया जा रहा है और न ही कर निर्धारण हेतु किसी प्रकार का आवेदन नगर निगम लखनऊ में प्रस्तुत किया गया।

वर्तमान में नगर निगम लखनऊ में भवन स्वामियों की सुविधा हेतु ऑनलाइन स्वयं गृहकर निर्धारण किए जाने की सुविधा उपलब्ध है। श्री आकाश शर्मा द्वारा उपरोक्त सुविधा का अनुचित लाभ उठाकर ऑनलाइन कर निर्धारण करते हुए मूल भवन स्वामी के मोबाइल नंबर दर्ज न करते हुए अपने भाई अर्जुन का मोबाइल नंबर दर्ज कराया गया जिससे भवन स्वामी को किसी प्रकार की सूचना प्राप्त नहीं हो रही थी।

उपरोक्त कृत्य की जानकारी होने पर आकाश शर्मा उर्फ शेष्ठ शर्मा, निवासी 5/477 विकास नगर के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही करते हुए थाना गोमतीनगर में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here