जन्नतुल बकी के पुनर्निर्माण की मांग को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजा पत्र

0
114

लखनऊ 29, अप्रेल। 8 शव्वाल शहीद स्मारक लखनऊ में जन्नत उल बक़ी के इन्हेदाम (ध्वस्तीकरण) को 100 साल होने पर व जन्नत उल बक़ी की तामीर ए नौ (पुनः निर्माण) के लिए शिया धर्मगुरु मौलाना यासूब अब्बास की ओर से सऊदी हुकूमत के ख़िलाफ़ बड़ा विरोध प्रदर्शन हुआ जिसमें शिया उलेमा, व हज़ारों की संख्या में लोगों ने शिरकत करके सऊदी हुकूमत के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन किया बताते चलें की सऊदी अरब मदीना मुनव्वरा में रसूले इस्लाम की इकलौती बेटी व चार इमामों के मज़ारों को 100 वर्ष पूर्व आले सऊद ने ध्वस्त कर दिया था जिसको लेकर शिया समुदाय में रोष है जिससे लिए हर साल पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किए जाते हैं और हिन्दुस्तान की सरकार से यह मांग की जाती है के वो सऊदी हुकूमत पर अपना दबाव बनाकर जन्नत उल बक़ी को तामीर कराने की बात करें या हिन्दुस्तान के शियों को रौज़ा तामीर कराने की इजाज़त दिलवाए क्योंकि इस साल जन्नतुल बक़ी के ध्वस्तीकरण को 100 वर्ष पूरे हो गए हैं जिसको लेकर लखनऊ में एक बड़ा विरोध प्रदर्शन किया गया और शिया समुदाय की ओर से भारत के प्रधानमंत्री को पत्र भेजा गया। इस प्रदर्शन में मुख्य रूप से शामिल होने वालों में ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना साएम मेहंदी नक़वी, मौलाना जाफ़र अब्बास, मौलाना फ़राज़ वास्ती, मौलाना अली जाफ़र, मौलाना शादाब काज़मी, मौलाना अली रिज़वान, मौलाना इंतेज़ाम हैदर, मौलाना इमदाद इमाम, मौलाना मेहंदी इफ़्तेख़ारी, मौलाना मीसम ज़ैदी, मौलाना मुत्तख़ी ज़ैदी, मौलाना मुस्लिम, मौलाना एजाज़ अब्बास, मौलाना सदफ़ जौनपुरी, एजाज़ ज़ैदी, हसन मेंहदी (झब्बू) समैत बड़ी संख्या में क़ौमी संस्थाएं व शहर की अंजुमनें शामिल रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here