कम्युनिटी चैंपियन नामित करने में तेजी लाएगी यूपी स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी

0
31

लखनऊ, 26 अप्रैल। उत्तर प्रदेश स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी के अपर परियोजना निदेशक डॉ. हीरा लाल की अध्यक्षता में बुधवार को स्टेट कमेटी रिसोर्स ग्रुप की दूसरी बैठक वर्चुअल माध्यम से हुई।
इस मौके पर डॉ. हीरा लाल ने कम्युनिटी सिस्टम स्ट्रेन्थनिंग कार्यक्रम को प्रभावी बनाने के लिए हर जनपद से जल्दी से जल्दी अधिक से अधिक आवेदन मंगाने तथा उनमें से योग्य आवेदनकर्ताओं को कम्युनिटी चैम्पियन के रूप में नामित करने के निर्देश दिए। उन्होंने दोहराया कि यह प्रक्रिया जल्द से जल्द पूर्ण कर ली जाए। इससे पहले भी डॉ. हीरा लाल ने इस कार्यक्रम के बारे में सभी संबंधित अधिकारियों के साथ 14 मार्च को बैठक की थी । बैठक में दिए गए निर्देशों पर की गयी कार्यवाही और आगे की कार्ययोजना पर विस्तार से चर्चा हुई।
बैठक की औपचारिक शुरूआत रमेश चन्द्र श्रीवास्तव, संयुक्त निदेशक, टी.आई ने की। उन्होंने स्टेट कमेटी रिसोर्स ग्रुप के उद्देश्यों पर चर्चा की । उन्होंने कम्युनिटी सिस्टम स्ट्रेंथिंग गतिविधियों के क्रियान्वयन के संबंध में अवगत कराया। उन्होंने बताया कि प्रत्येक जनपद स्तर पर विभिन्न उच्च जोखिम समूहों जैसे- सुई से नशा लेने वाले लोगों, ट्रांसजेंडर, एमएसएम, महिला यौन कर्मी, एचआईवी संक्रमित तथा युवा वर्ग से दो व्यक्ति कम्युनिटी चैम्पियन के रूप में नामित किये जायेंगे । चिन्हित समुदाय चैम्पियन (स्वयंसेवी) को नाको, भारत सरकार द्वारा नामित संस्था के माध्यम से प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसके अलावा उन्होंने बताया कि पार्टनर एजेंसी द्वारा अभी तक कुल छह क्लस्टर में कम्यूनिटी चैंपियंस नामित किए जाने के लिए आवेदन प्राप्त कर लिए गए हैं, शेष में भी तेजी से काम किया जा रहा हैं।
अपर परियोजना निदेशक ने निर्देश दिया कि जिन क्लस्टर में आवेदन पूर्ण कर लिए गए हैं, वहां ट्रेनिंग शुरू की जाये। इनमें नाको भारत सरकार द्वारा बनाए गए तीन दिवसीय प्रतिक्षण मॉड्यूल पर ट्रेनिंग करायी जाए, लेकिन आगे अन्य क्लस्टर में आवेदन की संख्या और बढ़ायी जाए । स्टेट कोर कमेटी में खाली हुए एक सदस्य- यूथ ग्रुप से किसी व्यक्ति को भी सदस्य के रूप में जल्द नामित किया जाए।
बैठक मे रमेश चंद्र श्रीवास्तव ने पार्टनर एजेन्सी को सुझाव दिया कि जिन जनपदों में कम्यूनिटी चैंपियंस के आवेदन पूर्ण हो गए हैं और उनकी ट्रेनिंग होनी है वहां यह भी सुनिश्चित किया जाये कि जो भी कम्यूनिटी चैंपियंस नामित हों, वह भविष्य में भी जुड़े रहें। नामित कम्यूनिटी चैंपियंस को लगातार प्रोत्साहन देते हुए प्रेरित किया जाये। इसके साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाये कि किसी चैंपियंस द्वारा प्रोग्राम छोड़ा जाता है, तो भविष्य में किसे उनके स्थान पर नामित किया जा सकता है। ताकि कार्यक्रम पर कोई प्रतिकूल प्रभाव न पड़े।
बैठक के अंत में स्टेट कोर कमेटी की उपाध्यक्ष एकता ने सभी को धन्यवाद देते हुए अग्रिम कार्यवाही सुनिश्चित करने का आश्वासन दिया। बैठक में नरेश चन्द्र यादव-अध्यक्ष यू.पी.एन.पी. प्लस, अजय साहनी-अध्यक्ष उप्र ड्रग यूजर फोरम, आरिफ जफर-अध्यक्ष नाज फाउंडेशन, इमरान खान-एमएसएम नेटवर्क उत्तर प्रदेश, संजय कुमार-पी.एल.एच.आई.वी., यू.पी.एन.पी. प्लस, जितेन्द्र कुमार- एम.ई.ए. वाई.आर.जी केयर, विरेन्द्र राज (एकता), गोरखपुर एकता सेवा संस्थान, जेरी- कार्यक्रम अधिकारी, सीएसएस और दिनेश कुमार यादव- लिंकेज को-आर्डिनेटर, यूपीएनपी प्लस, डॉ अभिषेक सिंह आदि ने भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here