एरा ने बनायी मोबाइल मेडिकल वैन,गांव गांव जाकर करेगी लोगों का मुफ्त उपचार

0
222

दिनांक 29 मई 2023

लखनऊ। स्वास्थ्य सेवाओं के आधुनिकीकरण की ओर लगातार अग्रसर एरा विश्वविद्यालय ने एक और कारनामा कर दिखाया है। एरा ने एक मोबाइल मेडिकल वैन तैयार की है, जिसमे ओपीडी, खून की जांच , एक्सरे, ईसीजी और मरीजों के परीक्षण जैसी तमाम सुविधाएं हैं। यह वैन गांव गांव जाकर लोगों की मुफ्त जांच और उपचार करेगी। यह वैन एक मिनी अस्पताल की तरह है। वैन में लगे उपकरण से खून की जांच रिपोर्ट और एक्सरे रिपोर्ट तत्काल प्राप्त होगी और मरीज का उपचार उसी समय शुरू हो जायेगा।
प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार ने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में एरा मेडिकल कॉलेज ने सराहनीय कार्य किया है। यह मोबाइल वैन ग्रामीण स्वास्थ्य सेवा के लिए वरदान साबित होगी। अब गांव के लोग भी बीमारी की जटिल समस्याओं से बच सकेंगे, क्योंकि इस वैन के माध्यम से शुरुआती दौर में ही उनकी बीमारी का पता लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि बहुत सी ऐसी बीमारियां है, जिसका पता खून की जांच से लगाया जा सकता है। ऐसे में अगर इन बीमारियों की पहचान शुरू में ही कर ली जाये तो मरीज को गंभीर होने से बचाया जा सकता है। यह वैन दूर दराज के क्षेत्रों में जाकर इसी कार्य को अंजाम देगी। इसके लिए एरा की पूरी टीम बधाई की पात्र है। इससे पूर्व प्रमुख सचिव ने एरा लखनऊ मेडिकल कॉलेज के रेडियोलॉजी विभाग व इनोवेटिव स्टीमुलेशन लैब का भ्रमण किया और उसकी सराहना की।
एरा विश्वविद्यालय के अतिरिक्त निदेशक जॉ अली खान ने बताया कि अक्सर देखा गया है कि ग्रामीण इलाकों का अगर कोई मरीज शहर की ओर अस्पताल या डॉक्टर के पास जाता है तो जांच में पता चलता है कि वो गंभीर या क्रोनिक बीमारी से ग्रस्त है। जिसकी वजह ये होती है कि शुरुआत में या तो उसे बीमारी के बारे में पता नहीं चल पाता है या फिर वो किन्ही कारणों से डॉक्टर के पास जाने में असमर्थ रहता है। इस कारण उसकी बीमारी धीरे धीरे गंभीर रूप ले लेती है और उसकी जिंदगी का संकट पैदा हो जाता है। इन्हीं बातों को ध्यान में रखकर एरा ने यह वैन तैयार की है ताकि गांव के लोगों के घर जाकर उनका उपचार किया जा सके। उन्होंने बताया कि वैन डॉक्टर, पैरामेडिकल, नर्स और टेक्नीशियन की टीम होगी। डाक्टर पहले मरीज का परीक्षण करेगा, उसके बाद आवश्यकता अनुसार उसकी जांच करायेगा। एक्सरे, ईसीजी और खून की रिपोर्ट तत्काल डॉक्टर को प्राप्त हो जायेगी, उसके अनुसार डाक्टर मरीज का उपचार करेगा। अगर मरीज में कोई चीज संदिग्ध मिलती है तो वैन का डॉक्टर तत्काल मरीज का पूरा विवरण आनलाइन एरा में स्थापित कंट्रोल रूप को ट्रांसफर करेगा। कंट्रोल रूम से जुड़े संबंधित विभाग के विशेषज्ञ चिकित्सक मरीज की रिपोर्ट का परीक्षण करेंगे और अपनी आनलाइन सलाह डॉक्टर को भेजेंगे। इसके बाद वरिष्ठ डॉक्टर की सलाह के अनुसार मरीज का उपचार शुरू होगा। उन्होंने बताया कि वैन में दो तरह के एक्सरे की सुविधा है। एक तो मरीज को वैन में लाकर एक्सरे किया जायेगा और मोबाइल पर तत्काल उसकी फिल्म आ जायेगी। दूसरे अगर कोई मरीज वैन तक आने की हालत में नहीं है तो उसके कमरे तक भी एक्सरे मशीन लायी जा सकती है, इसकी रिपोर्ट में तत्काल प्राप्त होगी।
इस मौके पर एरा विश्वविद्यालय के कुलाधिपति मोहसिन अली खान, उप कुलाधिपति मीसम अली खान, कुलपति अब्बास अली मेहदी, उप कुलपति फरजाना मेहदी, एरा मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्य जमाल मसूद सहित सभी विभागों के विभागाध्यक्ष, वरिष्ठ चिकित्सक और छात्र मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here